AePS क्या होता हैं, कैसे काम करता है । AePS Full Form In Banking

आज के इस ब्लॉग में हम चर्चा करेंगे कि AePS Full Form In Banking के बारे में, AePS क्या है? AePS से क्या फायदा है? AePS से क्या नुकसान है? AePS कैसे काम करता है?

AePS क्या है?

AEPS डिजिटल इंडिया के अंतर्गत NPCI के तहत चलता है यानिकि डिजिटल इंडिया के तहत NPCI ने इसको बनाया है।

AePS से क्या फायदा है?

AEPS से बहुत सारे फायदे है जैसेकि आप देखते होंगे पहले जब आपको किसी बैंक से पैसा withdrawal करना होता था बैंक में जाना पड़ता था, लंबी लाइन लगानी पड़ती थी उसके बाद घंटो इंतजार करने के बाद आपको पैसा मिलता था वो भी अगर रविवार होता तो लेन-देन नही कर सकते है क्योंकि हमारे इंडिया में बहुत सारे लोग अभी भी है जो ATM का स्तेमाल नही करते है और जगह-जगह में ATM नही है तो AEPS में यही फायदा होता है आज-कल हर एक शॉप में AEPS का सिस्टम लगा हुआ है आप कही पे भी कही भी अपना फिंगर या आधार नंबर के जरिए किसी भी बैंक से पैसा withdrawal कर सकते है।
AEPS से सबसे ज्यादा फायदा non graduate और बुजुर्ग लोगो को हो रहा है क्योंकि बुजुर्ग लोगो को बैंको ने जाने से ज्यादा परेशानी होती है लंबी लाइनों में परेशानी होती है रविवार को भी परेशानी होती है, तो AEPS से ये फायदा होता है कि आप अपने ग्रामीण छेत्र में है या कही भी है तो AEPS की किसी भी शॉप में जा कर आप अपना आधार नंबर और फिंगर प्रिंट और बैंक अकाउंट का नाम डालेंगे तो आप किसी भी बैंक से 10हजार तक withdrawal कर सकते है जो आज-कल के लिए बहुत ही फायदा है।

AePS Full Form In Banking

AePS से क्या नुकसान है?

AEPS से दो लोगो को नुकसान हो सकता है एक तो रिटेलर को भी नुकसान हो सकता है और कस्टमर को भी नुकसान हो सकता है। रिटेलर को नुकसान इस तरह हो सकता है जैसे कस्टमर पैसा निकलवाने आया हो और पैसा नही निकलता है और आपसे 2हजार रुपए निकलवाया और वो जा कर लोगो को बोलते है कि मेरा 4हजार निकाल लिया या ज्यादा पैसा निकाल लिया इस तरह का फ्रॉड हो सकता है अगर कस्टमर non graduate हो या समझदार न हो तो कस्टमर जितना पैसा निकलवाने आए हो रिटेलर उससे ज्यादा पैसा निकाल लेता है ऐसे में दोनों लोग बदनाम हो सकते है रिटेरल भी बदनाम हो सकता और कस्टमर भी बदनाम हो सकता है। इसका सबसे सिंपल सा समाधान है कि आप जब भी किसी का cash withdrawal करते है तो उसका प्रिंट आउट निकाल कर उसको दे अगर आप ग्राहक है और आप कही भी पैसा निकालवाते है तो उसका प्रिंट आउट निकलवा कर लेले नही तो आपको कभी न कभी परेशानी हो सकता है।

AePS कैसे काम करता है?

आपको बता दे AEPS एक digital india के अंतर्गत आता है जो इंडिया को डिजिटल बनाने में काफी सहयोग करता है बैंकिंग को डिजिटल बनाने में काफी सहयोग करता है जो लोगो का काम बहुत ही आसान करता है लेकिन इसके चक्कर में लोगो का काफी नुकसान भी होता है कई बार होता है transaction फस जाता है तो वो ये समझता है की रिटेरल ने हमारा पैसा रख लिया है जो की ऐसा नही होता है आपको दो-तीन दिन वेट करना होता है जो NPCI के तहत guid line बना है उनको fallow करते हुए कुछ दिन इंतजार करना पड़ता है और आपका पैसा उसी अकाउंट में चला जाता है जिसमे से वो कटा होता है।

AePS Full Form In Banking Video Tutorial For You:-

FAQ

Q:1 AePS full form
Ans. AADHAAR ENABLED PAYMENT SYSTEM

Q:2 AePS नगद निकासी क्या है?
Ans. आप AEPS की किसी भी शॉप में जा कर अपना फिंगर और आधार नंबर के जरिए किसी भी बैंक से पैसा withdrawal कर सकते है, इसे ही AEPS नगद निकासी कहते है।

Q:3 क्या AePS लेनदेन सुरक्षित है?
Ans. नही! अगर कोई व्यक्ति ज्यादा पड़ा-लिखा नही है और AePS के मध्यम से पैसा निकलवाता है तो रिटेरल उसके साथ फ्रॉड भी कर सकता है।

Q:4 AePS निकासी की सीमा क्या है?
Ans. अधिकतम एक दिन में 10,000 की निकासी कर सकते है।

Leave a comment