IPO Meaning in Hindi – IPO क्या है?

नमस्कार दोस्तों आज के ब्लॉग में हम IPO Meaning in Hindi के बारे में जानेंगे और ipo में इन्वेस्ट करने से करोड़ों रुपए कैसे बन जाते है? हम ipo में कहा से इन्वेस्टमेंट कर सकते है? और ipo क्या होता है? आज के इस ब्लॉग में हम इन सारी सवालों के जवाब जानेंगे।

ipo क्या होता है?

ipo(initial public offering) दोस्तो कोई भी कंपनी शेयर मार्केट अपना शेयर 1st टाइम बेचने आती है तो इस प्रोसेस को ही हम initial public offering कहते है। कंपनिया बहुत सारी कारणों से ipo लाती है जैसे बिजनेस सस्पेंशन के लिए, पुराने लोन को चुकाने के लिए, नए प्रोडक्ट के सर्विसेस को लॉन्च करने के लिए या किसी दूसरी कंपनी को खरीदने के लिए।

IPO Meaning in Hindi

ipo लॉन्च कैसे होती है?

दोस्तो कोई कंपनी ipo लाने का प्लान करती है तो उसे एक डिटेल डॉक्यूमेंट बनाना पड़ता है जिसमे कंपनी की सारी डिटेल होती है जैसे कंपनी की histry, financial details, future plans etc. इस डॉक्यूमेंट्स को DRHP(draft red herring prospectus) कहते है। कंपनियों को ये डॉक्यूमेंट SEBI के पास सबमिट करना होता है। sebi एक गोवरमेंट बॉडी है जो स्टॉक मार्केट को रेगुलेट करती है, वैसे ही जैसे RBI बैंको को रेगूलेट करती है। sebi सबमिट की हुई drhp को रिव्यू करती है और ipo में लाने की परमिशन देती है। परमिशन मिलने के बाद कंपनी ipo लाने के लिए रेडी हो जाती है। दोस्तो ipo लाना एक complex process होता है इस लिए ipo लाने के लिए कंपनियां इन्वेस्टमेंट बैंक को हायर करती है जिनका काम होता है ipo लाने में कंपनियों की हेल्प करना। इन्वेस्टमेंट बैंक्स कंपनियों के साथ मिल कर ipo का सारा प्लान बनाती है और फिर ipo को पब्लिक के लिए open किया जाता है ताकि पब्लिक इसमें अप्लाई कर सके। दोस्तो ipo मिनिमम 3दिन और मैक्सिमम 10दिन के लिए open रहता है इस period को ipo का issue period भी कहते है।
अगर हम ipo में इन्वेस्ट करना है तो हमे issue period मे ही अप्लाई करना होगा। दोस्तो ipo में शेयर लॉट या बंडल में आलोट होते है और ये rule है कि एक लॉट की प्राइस 15000रुपए से ज्यादा नहीं हो सकती। इस्तरः एक लॉट मे कितने शेयर होंगे ये एक शेयर की प्राइस से डिसाइड होता है मानलो कोई कंपनी का शेयर 1000रूपए रखना है तो इस तरह 15000÷1000 तो एक लॉट मे 15शेयर ही आयेंगे।

आईपीओ में निवेश करके करोड़ों रुपये कैसे कमाएं?

दोस्तो साल 1980 में wipro ने अपना ipo लाया था ipo के टाइम पर wipro के शेयर की प्राइस 100रुपए थे अगर ipo के टाइम पर किसी ने 10हजार रुपए इन्वेस्ट करके wipro के 100शेयर लिए होते और उसे अभी तक रखा होता तो बोनस और split मिला कर उसके पास 2019 मे टोटल 1करोड़92लाख शेयर्स हो जाते और आज wipro के एक शेयर की प्राइस 390रुपए है तो शेयर्स की टोटल वैल्यू लगभग 4,85करोड़ रुपए होती।
दोस्तो बोनस और split दो तरीके के होते है जिसके थ्रू कंपनियां शेयर्स होल्डर्स को एक्स्ट्रा शेयर्स देती है। तो इस तरह से हम ipo के टाइम पर इन्वेस्ट करके करोड़ों रुपए बना सकते है। और ध्यान देने वाली बात यह है की हम ipo में उन्ही कंपनीस के शेयर्स खरीदने चाहिए जिनकी फ्यूचर मे ग्रोथ होने के चांसेस ज्यादा हो और साथ ही साथ हमे ipo मे ली हुई शेयर्स लंबे समय के लिए hold करना होगा अगर शेयर जल्दी बेंच देगें तो हमे बहुत अच्छे रिटर्न नही मिल पाएंगे।

ipo के लिए कहां अप्लाई करें?

दोस्तो ipo में हम online या offline अप्लाई कर सकते है ipo में online अप्लाई करने की फैसिलिटी हर बैंक देती है और offline में हम ipo एप्लीकेशन फॉर्म अपने ब्रोकर्स के पास भर सकते है दोस्तो हर ब्रोकर्स के पास ipo मे अप्लाई करने की फैसिलिटी नहीं होती इस लिए अच्छा रहेगा की आप अपने ब्रोकर्स से जरूर बात करे।

IPO Meaning in Hindi Video Tutorial For You:-

Leave a comment